शेयर कैपिटल क्या है? Share Capital Meaning in Hindi 2023

Share Capital Meaning | हिंदी में अर्थ | इसके उदाहरण | शेयर कैपिटल के प्रकार | महत्व | ऑथराइज्ड, इश्युड, पेड-अप, फ्रेफरेंस और इक्विटी कैपिटल की जानकारी | Faq about share capital

नमस्कार दोस्तों wealthgif.com पर आपका फिर से स्वागत है. दोस्तों आज के लेख Share Capital Meaning in Hindi में हम जानेंगे की शेयर कैपिटल क्या है? और कितने प्रकार के होते हैं तथा इस टॉपिक से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण प्रश्नों पर भी नजर डालेंगे..

शेयर कैपिटल क्या है? Share Capital Meaning in Hindi

इसलिए अगर आप Share Capital के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढियेगा। तो आइए शुरू करते हैं और सबसे पहले जानते हैं Share Capital का Hindi Meaning क्या है?

Share Capital Meaning in Hindi

Share Capital अंग्रेजी भाषा का एक शब्द है जिसका हिंदी में अर्थ होता है शेयर पूंजी या हिस्सेदारी पूंजी.

Hindi Meanings of Share Capital | शेयर कैपिटल के अन्य हिंदी मीनिंग

  • शेयर पूंजी
  • शेयर निधि
  • शेयर रकम
  • साझीदारी रकम
  • हिस्सेदारी पूंजी
  • पट्टीदार निधि
  • भागीदार पूंजी

शेयर कैपिटल क्या है? (What is Share Capital in Hindi)

शेयर कैपिटल वह पूंजी है जिसे कोई कंपनी इक्विटी शेयर और प्रिफरेंस शेयर जारी करके जुटाती है।

कहने का तात्पर्य है की शेयर कैपिटल वह पैसा होता है जो एक कंपनी शेयर बेचकर जुटाती है। कंपनियों को अपने ऑपरेशंस को फंड करने के लिए, व्यापार का विस्तार करने के लिए और नई परियोजनाओं में इन्वेस्ट करने के लिए पैसों की जरूरत होती है इसलिए वे अपने शेयर्स को मार्केट में बेचकर पैसे उठाती है।

जब कोई कंपनी बनती है, तो वह नकदी (Cash) या अन्य परिसंपत्तियों (other assets) के बदले अपने संस्थापकों और प्रारंभिक निवेशकों को शेयर जारी करती है। जैसे-जैसे कंपनी बढ़ती है और फैलती है, यह अधिक पूंजी जुटाने के लिए अतिरिक्त शेयर जारी करती है। एक कंपनी की शेयर पूंजी की कुल राशि उसके सभी शेयरों के मूल्य का योग है।

The total amount of share capital a company has is the sum of the value of all its shares.

Share Capital in Hindi

आइए शेयर कैपिटल और अच्छे से समझने के लिए इसे शुरुआत से जानते हैं.. और शुरु करते हैं Share, Capital और Fund raising Se

Share in Company

कंपनी मार्केट से फंड जुटाने के लिए शेयर जारी करती है। शेयर किसी कंपनी में हिस्सेदारी (ओनरशिप) को बताता है। आपने किसी कंपनी का शेयर खरीदा है तो इसका मतलब है की आपने कंपनी में पैसा डाल के उसके एक छोटे से हिस्से को खरीदा है।

Capital in Company

एक कंपनी को चलाने के लिए पैसों की जरूरत पड़ती है और जिन पैसों का उपयोग करके कंपनी को चलाया जाता है उसे पूंजी (Capital) कहा जाता है। ज्यादातर कंपनिया पूंजी जुटाने के लिए निम्न विकल्पों पर विचार करती है,

  • संस्थापक सदस्यों से
  • बैंक लोन से
  • शेयर कैपिटल से

Fund Raising in Company

कंपनी जब छोटी होती है तब संस्थापक सदस्य इधर-उधर से पैसे इकट्ठा करके कंपनी को चला लेते हैं लेकिन जब कंपनी बड़ी हो जाती है तो ऐसा करना पॉसिबल नही होता। एक बड़ी कंपनी को चलाने के लिए बड़ी पूंजी की आवश्यकता होती है जिसे संस्थापक सदस्य पूरा नहीं कर पाते।

इसके बाद पूंजी जुटाने के लिए कंपनी के पास दो विकल्प होता है- 1. या तो बैंक से लोन लें या 2. शेयर मार्केट से पैसा उठा लें.

कंपनी अगर बैंक से लोन लेती है तो उसे हर महीने फिक्स रेट पर ब्याज देना पड़ेगा और लोन का पैसा भी हर हाल में चुकाना पड़ेगा। वहीं इसके बजाय कंपनी शेयर मार्केट में जाकर आम पब्लिक से पैसा उठाती है तो उसे पैसे वापस करने की बाध्यता नहीं होगी और ना ही किसी प्रकार का ब्याज देना पड़ेगा, बस डिविडेंड के माध्यम से अपना प्रॉफिट शेयर करना होगा।

Share Capital

शेयर मार्केट में जाकर कंपनियां शेयर्स बेचती है और आम पब्लिक से पैसे इकट्ठा करती है और इस पैसे को ही शेयर कैपिटल कहते हैं। कंपनी की नजर से देखे तो, शेयर कैपिटल वह पैसा होता है जो एक शेयर होल्डर शेयर के बदले कंपनी में डालता है।

शेयर पूंजी का उदाहरण (Share Capital Meaning With Example in Hindi)

आइए शेयर कैपिटल को एक उदाहरण की मदद से समझने का प्रयास करते हैं, मान लीजिए की आपको एक बिजनेस शुरू करना है और इसके लिए 1 करोड़ रुपए पूंजी की आवश्कता है।

लेकिन आपके पास केवल 60 लाख रुपए मौजूद हैं 40 लाख की कमी है। पैसों की कमी को पूरा करने के लिए आपने अपने दोस्तों से बात किया और वे लोग पैसा इन्वेस्ट करने के लिए राजी हो गए। आपने 40 लाख रुपए के लिए अपने बिजनेस की हिस्सेदारी 20 दोस्तों को बेच दिया

इसका सीधा सा मतलब हुआ कि आपने अपने बिजनेस के लिए 40 लाख रुपए शेयर कैपिटल से हासिल किया है। और दूसरी समझने वाली बात यह है की जिन दोस्तों ने आपसे हिस्सेदारी खरीदी है वे आपके बिजनेस में शेयर धारक (share holder) हुए।

शेयर कैपिटल के प्रकार (Types of Share Capital in Hindi)

वैसे तो शेयर कैपिटल के कई प्रकार हैं लेकिन उनमें से सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण दो होते हैं –

1. अधिकृत शेयर पूंजी – Authorized Share Capital

2. जारी शेयर पूंजी – Issued Share Capital

शेयर कैपिटल के अन्य प्रकार –

3. Paid-up Capital

4. Called-up Capital

5. Uncalled Capital

6. Subscribed Share Capital

7. Resrve Capital

अधिकृत शेयर पूंजी क्या है? (Authorized Share Capital in hindi)

अधिकृत शेयर कैपिटल मतलब होता है वह अधिकतम पूंजी जो एक कंपनी शेयर जारी करके जुटा सकती है।

ऑथराइज्ड कैपिटल को नॉमिनल कैपिटल भी कहते हैं। जो हमारे डॉक्यूमेंट – मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन में लिखवा दी जाती है कि एक कंपनी इससे ज्यादा शेयर इश्यू नहीं कर सकती है। ऑथराइज्ड कैपिटल में शेयर इश्यू करने का एक मैक्सिमम लिमिट होता है।

उदाहरण के लिए. किसी कंपनी की अधिकतम ऑथराइज्ड शेयर्स की संख्या एक लाख शेयर्स हैं और हर शेयर की वैल्यू 10 रुपए रखी गई है तो किसी कंपनी की 10 लाख रुपए ऑथराइज्ड कैपिटल होगी।

1,00,000 शेयर × 10 रुपए = 10 लाख रु कैपिटल

तो कोई कंपनी जिसकी ऑथराइज्ड कैपिटल 10 लाख है और हर शेयर की वैल्यू 10 रुपए है वह एक लाख से ज्यादा शेयर इश्यू नहीं कर सकता है।

जारी शेयर पूंजी क्या है? (Issued Share Capital in Hindi)

निवेशकों को Sell किया गया या आवंटित कर दिए गए शेयर्स और उनसे Raised capital को इश्यू कैपिटल कहते हैं।

मान लेते हैं कंपनी की ऑथराइज्ड कैपिटल 10 लाख रुपए रुपए है और कंपनी कहती है कि हमारा काम अभी 6 लाख रुपए में चल जाएगा इसलिए अभी हम पूरे के पूरे शेयर्स इश्यू नहीं करने वाले ऐसा करते हैं कि 60 हजार शेयर्स अभी जारी कर देते हैं प्रति शेयर ₹10 के भाव से हमें 60 हजार शेयर्स के 6 लाख रुपए मिल जाएंगे।

अतः यह जो शेयर इश्यू कर दिए गए हैं उसे इश्यूड शेयर करते हैं। और इनसे जुटाई गई पूंजी को इश्यूड शेयर कैपिटल कहते हैं।

What is Paid-up capital in Hindi

कंपनी प्राथमिक बाजार के माध्यम से सीधे शेयरधारकों और निवेशकों को अपना शेयर बेचती है तो उस से प्राप्त होने वाले धन राशि को पेड-अप पूंजी (paid-up capital) कहते हैं। दूसरे शब्दों में, यह वह पैसा है जो शेयर बेचने पर कंपनी में आ चुके हैं कंपनी को paid हो चुके हैं।

What is a preference share capital in Hindi

प्रिफरेंस शेयर कैपिटल वह धन है जो एक कंपनी प्रिफरेंस शेयर जारी करके जुटाती है। प्रिफरेंस शेयर ऐसे शेयर होते हैं जो केवल बड़े-बड़े इन्वेस्टर्स को जारी किए जाते हैं क्योंकि ये शेयर तब जारी किए जाते हैं जब कंपनी को अर्जेंटली बड़े अमाउंट में धन की जरूरत होती है और इतना बड़ा अमाउंट जल्दी से केवल बड़े इन्वेस्टर्स ही डाल सकते हैं।

इसलिए प्रिफरेंस शेयर कैपिटल वह धन है जो बड़े-बड़े इंडिविजुअल इनेस्टोर्स इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स और म्यूचुअल फंड्स आदि के पास से इकट्ठा किया जाता है।

what is equity share capital in Hindi

इक्विटी शेयर कैपिटल का मतलब होता है वह पैसा या पूंजी जो आम पब्लिक को शेयर Sell करके जुटाई जाती है। इसे रिस्क कैपिटल के नाम से भी जाना जाता है।

इक्विटी शेयर जारी करने का मुख्य उद्देश्य कंपनी के Growth और Expension के लिए धन जुटाना है। एक कंपनी IPO (initial public offering) के माध्यम से आम पब्लिक को इक्विटी शेयर जारी करती है और पैसे जुटाती है।

शेयर कैपिटल का महत्व Importance of Share Capital in Hindi

शेयर कैपिटल एक कंपनी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यह बिजनेस को operate करने और Grow करने के लिए आवश्यक फंड प्रोवाइड करता है।

कंपनियां शेयर कैपिटल का उपयोग नए प्रोजेक्ट्स में इन्वेस्ट करने, अपने operations का विस्तार करने अथवा अन्य बिजनेसेज को aquire करने के लिए करते हैं। शेयर कैपिटल कंपनियों को अधिक फाइनेंशियल फ्लेक्सिबिलिटी देती है, क्योंकि वे शेयर बिक्री से जुटाए गए पूंजी का उपयोग किसी भी उद्देश्य के लिए कर सकते हैं।

इसके अलावा, शेयर पूंजी निवेशकों के लिए भी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यह कंपनी में उनके ओनरशिप रिप्रेजेंट करता है। शेयरधारकों को लाभांश प्राप्त करने, इंपोर्टनेट कंपनी मैटर्स पर वोट करने और लिक्विडेशन की स्थिति में कंपनी की एसेट में से हिस्सा प्राप्त करने का अधिकार होता है।


नीचे पिन की गई वीडियो में Share Capital के बारे में काफी अच्छे से समझाया गया है। इसपर क्लिक करके इसे जरूर देखें 👇

© Basic gyan yt


Faq About Share Capital Meaning in Hindi

प्रश्न: शेयर कैपिटल का क्या मतलब है?

शेयर कैपिटल का मतलब होता है शेयर मार्केट में शेयर इश्यू करके जुटाई जाने वाली पूंजी.

प्रश्न: शेयर कैपिटल क्या है?

शेयर कैपिटल वह पूंजी है जो शेयर बाजार में कानूनी रूप से शेयरों को बेचकर जुटाई जाती है।

प्रश्न: शेयर कैपिटल कितने प्रकार के होते हैं?

शेयर कैपिटल मुख्यत दो प्रकार के होते हैं: ऑथराइज्ड शेयर कैपिटल और इश्यूड शेयर कैपिटल

प्रश्न: अधिकृत शेयर कैपिटल क्या है?

अधिकृत शेयर कैपिटल मतलब होता है वह अधिकतम पूंजी जो एक कंपनी शेयर जारी करके जुटा सकती है।

प्रश्न: जारी शेयर पूंजी क्या है?

कंपनी ने शेयर इश्यू करके जितना पूंजी जुटाया है उसे इश्यूड शेयर कैपिटल कहते हैं। इश्यूड शेयर कैपिटल उन शेयरों की संख्या है जिसे कंपनी ने निवेशकों को बेचा या आवंटित किया है।

प्रश्न: शेयर पूंजी का उद्देश्य क्या है?

शेयर पूंजी का मुख्य उद्देश्य कंपनी के संचालन को फंड करना, व्यापार के विस्तार और नई परियोजनाओं में इन्वेस्ट करने के लिए पूंजी जुटाना है।

प्रश्न: शेयर और शेयर कैपिटल में क्या अंतर है?

शेयर किसी कंपनी के ओनरशिप को बताता है जबकि शेयर कैपिटल शेयर इश्यू करके जुटाए जाने वाले फंड को बताता है।

Conclusion of Share Capital Meaning in Hindi

तो दोस्तों, ये थी आपकी Share Capital Meaning in Hindi और Share Capital Kya hai जैसे सवालों के जवाब। आशा करता हुं की यह लेख आपको पसंद आया होगा।

इसी तरह के शेयर मार्केट से संबधित लेख पढ़ने के लिए हमारे साइट पर मौजदू अन्य लेखों को भी आप पढ़ सकते हैं। इन्हें 👇 भी पढ़ने का आनंद जरूर लें।

इन्हें भी पढ़ें :-

Share Meaning in hindi

Investment Meaning in hindi

One Card Kya hai, Benifits & Features

संबधित लेख :-

स्टॉक मार्केट में इक्विटी क्या है 🤔

शेयर बाजार से अमीर कैसे बनें 💰

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment